Top 10 Tips: SEO Friendly Blog Post Kaise Likhe

SEO Friendly blog post

Kya Aap Seo Friendly Blog Post Likhna Chahate Hai?

आज के टाइम में हर हर ब्लॉगर यही चाहता है की हमारी post Google में First Page पर Rank करे, लेकिन क्या आप जानते है की गूगल के फर्स्ट पेज में रैंक कराने के लिए हमे किस तरह के आर्टिकल लिखने चाहिए या फिर किस तरह के स्ट्रेटेजी को अपना के एक आर्टिकल लिखा जाता है, अगर नही तो कोई बात नही क्योकि आज हम आपको बताएँगे की Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe Jate Hai, साथ ही वो सभी सीक्रेट बताने बाला हु जिसके मदद से आप एक Full Seo Optimized Friendly Article लिख पाएंगे | 

नमस्कार दोस्तों Rishabhhelpme.com में आपका स्वागत है तो आज की पोस्ट में हम आपको बताएँगे की आप किस तरह के स्ट्रेटेजी को अपना कर सिंपल तरीके से एक Seo Friendly Blog Post likh skte hai, कहने का मतलब ये है दोस्तों की आप seo friendly article kaise likh skte hai.

एक Seo Friendly Blog Post लिखने का मतलब ये होता है की आपके पोस्ट में Heading, Keyword, Blog Ka Structure, Paragraph, और सबसे जरूरी चीज ये की old post का linking अगर ये सभी चीजे सही तरीके से ऐड करते है |

तो यकिन मानिये की आपका हरेक पोस्ट Google में 1st या 2nd पेज पर आसानी से rank कर सकता है |

लेकिन गौर करने वाली बात ये है की ये सभी जानकारी होने के वावजूद कई bloggers पीछे रह जाते है क्यों? क्योकि एक ब्लॉग पोस्ट लिखना बहुत आसान होता है |

लेकिन एक Seo Friendly Blog Post लिखना नही क्योकि Seo Friendly Blog Post लिखने का मतलब ही ये होता है की सही तरीके से पोस्ट लिखना जो Search Engine के साथ साथ User को भी पसंद आये 

तो दोस्तों ज्यादा समय की बर्वादी न करते हुए सीधे टॉपिक पर आते है |

Seo Friendly Blog Post लिखने के Top 10 Tips

Keyword Research क्यों करना चाहिए | Why should do Keyword Research

Seo Friendly Blog Post लिखने के मामले में keyword research करना एक seo फैक्टर माना जाता है क्योकि जब हमारे दिमाग में Content लिखने के आईडिया आता है

तो सबसे ज्यादा जरूरी होता है की इससे Related Keyword Research करे, क्योकि इससे आपको ये मालूम हो जाता है की आपको किस तरह के keyword पर वर्क करना है, और किस keyword पर नही,

वैसे तो Keyword Research करने के लिए बहुत से Free और Paid tool market उपलब्ध है लेकिन अगर आप फ्री में यूज़ करना चाहते है तो सबसे बेस्ट है Google Keyword Planner 

Article लिखने से पहले क्या करे | What to do before writing an article

फ्रेंड्स अगर आप Seo Friendly Blog Post लिखना चाहते है तो हमे कुछ बातो पर ध्यान देना होगा जो अक्सर bloggers नही देते है आइये जानते है वो क्या है?

अक्सर जब हमारे दिमाग में Article लिखने का ख्याल आता है तो हम सीधे लिखने बैठ जाते है, लेकिन ये तरीका बिलकुल गलत है,

इसीलिए जब भी लिखने का ख्याल आये तो सबसे पहले हमे उसके बारे में सर्च करना चाहिए |

जैसे क्या उसपर पहले से Article लिखा हुआ है, अगर लिखा हुआ है तो वो कितने नंबर पर रैंक कर रहा है, साथ ही कितने ब्लॉगर उसपर पोस्ट लिखा चूका है, क्या सभी ने उस टॉपिक पर फुल इनफार्मेशन दिया है की नही?

अगर नही दिया हुआ है तो आप एक्स्ट्रा इनफार्मेशन देकर पोस्ट लिख सकते है, लेकिन कुछ अलग तरीके से ताकि पढने में ऐसा लगे की हम कुछ न्यू पढ़ रहे है |

Article का Structure क्यों बनाये | Why make article structure

Seo Friendly Blog Postलिखने से पहले आपको Seo friendly structure ready करना होगा वो कैसे ? 

जब भी हम आर्टिकल लिखने बैठे तो हमे सबसे पहले उसका structure बनाना चाहिए और इसके लिए हमे कुछ बातो को ध्यान में रखना पड़ता है जैसे, कौन सा हैडिंग कहाँ पर लिखना चाहिए, targeted कीवर्ड कहाँ पर ऐड करे, कितना इनफार्मेशन देना सही होगा  एक्स्ट्रा एक्स्ट्रा | 

आपने कभी नोटिस किया होगा की इंजिनियर घर बनाने से पहले एक structure बनाता है फिर जाकर घर रेडी करता है same हमे भी article लिखने से पहले करना चाहिए इससे हम एक सही way में काम कर पाएंगे |

Title और URL कैसे लिखते है | How to write title and URL?

Seo Friendly Blog Post लिखने के लिए आपको सबसे पहले उसका Title और URL को अच्छे से लिखना होगा ताकि यूजर देखते ही क्लिक करे | 

क्योकि जब यूजर Google में कुछ भी सर्च करता है तो वो short tail keyword या long tail keyword के जरिये search करता है  |

तो हमे इस बात पर ज्यादा ध्यान देना होगा क्योकि इंडिया में ज्यादातर लोग long tail keyword लिखकर ही सर्च करते है, जबकि इंग्लिश ब्लॉग में ठीक इसका उल्टा होता है 

So, हमे पोस्ट का title और URL इस तरह से रखना है की कोई भी यूजर को ये आसानी से पता चल सके की उस पोस्ट के अंदर क्या मिलेगा |

एक सर्वे के अनुसार ये पता चला है की user search करने के बाद 10 में से सिर्फ दो ही लोग आपके पुरे पोस्ट को रीड करते है,

जबकि 8 लोग ऐसे होते है जो आपके title को रीड करके ही साईट को स्किप कर देते है क्योकि उन्हें लगता है

की इस पोस्ट के अंदर उन्हें कुछ बेहतर information नही मिलेगा क्योकि वो title को पढकर ही समझ चुके है |

So, आप खुद समझ सकते है की यूजर कितना फ़ास्ट होता है, so हमे इन सभी चीजो को ध्यान में रखकर title और URL रेडी करना है |

Heading को सही तरीके से क्यों लिखना चाहिए | Why should headings be written correctly?

एक Seo Friendly Blog Post में heading बहुत मायने रखता है ऐसा क्यों?

कभी कभी अपने गूगल में कुछ सर्च किया होगा तो ये चीजे जरूर नोटिस की होगी की गूगल कुछ कुछ साईट के heading को snippet करके दिखाता है ऐसा क्यों?

ऐसा इसीलिए क्योकि जब हम गूगल में कुछ टेक्स्ट सर्च करते है तो same वही टेक्स्ट कुछ प्रो bloggers heading में यूज़ करते है

साथ ही टाइटल में तो इससे गूगल अच्छे तरीके से क्रॉल करता है और वो देखता है की ये article इस यूजर के लिए सही होगा

क्योकि उसमे वो टेक्स्ट उस जगह पर ऐड किया हुआ होता है जहाँ पर exactly में होना चाहिए |

जबकि न्यू bloggers ऐसा बिलकुल नही करते है जो सबसे बड़ी गलती है |

सिंपल कहने का मतलब ये है की article के अंदर में Targeted Keyword को title और URL  के साथ साथ हमे Heading में भी यूज़ करनी चाहिए इससे रैंकिंग में आसानी और Seo Friendly होता है 

Paragraph Short क्यों रखना चाहिए | Why should you keep a Paragraph Short?

Seo Friendly Blog Post का मलतब ही होता है short paragraph

क्या आपने कभी इंग्लिश ब्लोग्स पढ़ा है अगर हाँ तो अच्छी बात है और अगर नही तो अभी से पढना शुरू कर दीजिये |

मैं ऐसा इसीलिए बोल रहा हु क्योकि इंग्लिश ब्लॉग में एक चीज कॉमन होता है और वो है paragraph शोर्ट होना

अगर आपने इस चीज को नोटिस किया होगा तो देखा होगा की इंग्लिश ब्लॉग में paragraph हमेसा शोर्ट होता है

इससे फायदा ये होता है यूजर को पढने में बोरिंग फील नही होता है और पढने में मज्जा भी आता है |

Old Post की Linking करना क्यों जरूरी है | Why linking old posts is important?

Seo Friendly Blog Post में old post ka interlinking बहुत मायने रखते है, वो कैसे?

मान लीजिये की कोई न्यू यूजर आपके साईट पर आया है और पढकर चला गया तो इससे आपको ही नुक्सान होगा

लेकिन अगर आप यूजर को 1 मिनट से 2 मिनट तक अपने साईट पर रोक लिया तो आपके लिए ख़ुशी की बात होगी

और ये तभी होगा जब आप old post की linking अपने new post में करेंगे |

अब फ्रेंड्स लिंकिंग का मतलब ये नही की आप कोई भी ओल्ड पोस्ट कि लिंकिंग कर दे नही तो इससे article गूगल में तो क्या कही भी इंडेक्स नही करेगा जिससे आपके ब्लॉग की वैल्यू डाउन भी हो सकतीं है |

so आपको यही करना है की न्यू पोस्ट में ये चीजे find करे की ऐसा कौन सा टेक्स्ट है जिसपे आप ओल्ड पोस्ट का लिंक इन्सर्ट कर सकते है |

ऐसा करने से सर्च इंजन उस पोस्ट को रैंक करेगा और वैल्यू भी देगा |

फालतू के इंटर लिंकिंग कभी भी ना करे नही तो bad इफेक्ट्स भी पढ़ सकता है |

Article के Length को Optimize क्यों करना चाहिए | Why should the article length be optimized?

एक सर्वे एक अनुसार से पता चला है की गूगल long कंटेंट यानि की long article को ज्यादा इम्पोर्टेंस देता है,

क्योकि गूगल को ऐसा लगता है की उसमे ज्यादा इनफार्मेशन होगा ऐसा क्यों ?

मान लेते है की हमने कोई 1000 वर्ड्स का article लिखा है, तो जाहिर सी बात है की उसमे हम मैक्सिमम 10 हैडिंग ही यूज़ कर सकते है |

लेकिन अगर आपने 2000 ya उससे ज्यादा लम्बा कंटेंट लिखते है तो उसमे कम से कम 20 to 30 हेडिंग यूज़ किये जा सकते है |

so आप खुद अनुमान लगा सकते है की उस article में आप किस किस तरह के heading को कवर कर सकते है |

और गूगल भी यही चीजे find करता है article में इसीलिए वो long कंटेंट को बेहतर समझता है |

अब सबसे जरूरी बात ये है की आप long कंटेंट को किस तरह से ऑप्टिमाइज़ करते है क्योकि ऑप्टिमाइजेशन ही आपके कंटेंट को टॉप पर लेकर जाती है |

so आप ऑप्टिमाइजेशन को कभी नेग्लेट नही कर सकते है, साथ ही आपको ये भी ध्यान देना होगा की इसमें कोई कीवर्ड स्टाफिंग ना हो क्योकि long article में ये अक्सर देखने को मिल जाता है |

Meta Description को Optimize क्यों करे | Why Optimize Meta Description 

Meta Description हमारे ब्लॉग का वो सबसे छोटा अंग है जिसपे ज्यादातर लोग ध्यान देते है,

क्योकि इसमें आपके पुरे article का निचोड़ दिया हुआ होता है,

की इस article में आपको क्या मिलेगा, किस तरह के हैडिंग मिलेंगे, एक्स्ट्रा एक्स्ट्रा |

so आपको मेटा डिस्क्रिप्शन ऐसा रेडी करना होगा की यूजर पढ़ते ही समझ जाए की हमे article में क्या पढने को मिलेगा |

Image Optimize क्यों करे | Why optimize images?

एक इमेज 1000 वर्ड्स के बराबर होती है, ये बात शायद आप नही जानते होंगे, लेकिन ये एक ब्लॉग्गिंग फील्ड में fact है जो आपको पता होना चाहिए |

इसीलिए जब भी आप article रेडी करे तो एक रिलेवेंट इमेज जरूर डाले पोस्ट में ताकि यूजर को ये समझ में आये की उसे article में क्या मिलेगा |

Conclusion

तो दोस्तों हमने आज आपको इस article में ये बताया है की Seo Friendly Blog Post लिखने के क्या क्या रूल्स फॉलो करने पढ़ते है |

इसीलिए जब भी आप article लिखने को बैठे तो एक बात का ध्यान रखे की एक Seo Friendly Blog Post लिखने के लिए बहुत सारे रिसर्च करने पढ़ते है और सोचना पढता है की क्या लिखे और क्या नही क्योकि आप आपने लिए नही लिख रहे है बल्कि यूजर के लिए लिख रहे है |

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई हो तो प्लीज इसे अपने फ्रेंड्स एंड फॅमिली के साथ जरूर शेयर करे |

आपको ये भी पढना चाहिए

  1. Slow URLs Fast Kaise Kre
  2. WordPress Ke Login URL Change Kaise Kre
  3. Blog Ko Google Webmaster Tool Me Submit Kaise Kre
  4. General HTTP 403 Error Kya Hai Or Ise Kaise Fix Kre
  5. First Blog Post Me Kya Likhe
RishabhHelpMe

https://RishabhHelpMe.Com Welcome to my blog RishabhHelpMe.Com My name is Rishabh Raj, and I write posts on this blog on things related to blogging, Seo, WordPress and Make Money.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.