Youtube Channel Start Kasie Kre By 3 Golden Tip’s | हिन्दी में फुल डिटेल |

2
21
आज मैं आपके लिए एक ऐसी स्टोरी लाया हूं जिसे पढ़कर आप ये समझ जाएंगे कि हमे कोई भी work में, ya business, startup carrier में पैसे को न देखकर बल्कि सुरु में अपने product पर ध्यान देना चाहिए।
 
आज के date में कौन चाहता है कि सुबह 9 बजे से लेकर रात के 5 बजे तक कुछ पैसो की चक्कर मे दुसरो की गुलामी करना obesity new generation के लोग को internet के बारे में startup के बारे में काफी कुछ पता है वो तो बिल्कुल ही नही चाहते लेकिन वो इस गुलामी से बचने के लिए बिना कुछ सीखे समझे की कैसे एक successful startup सुरु किया जाता है और अपना-अपना startup खोल देने ki बजह से 90% से ज्यादा startup सुरु में ही फैल हो जाते है।
 
Startup जैसा भी हो जिस भी field में हो 3 ऐसे golden rules है जिसे अगर पूरी तरह से follow किया जाए तो guaranteed है की एक successful startup build किया जा सकता है।
 
ये picture देखिए।,☺
 
youtube golden tips
How to startup youtube channel- By | 3 golden tips|
आपका घर जरूर इनमे से मिलता जुलता है न घर तो शायद मिलता जुलता है लेकिन क्या सोच भी मिलती जुलती है। ये ज्यादा बड़ी बात है। इसीलिए मैं दो दोस्त की example की मदद से आपको समझाने की कोसिस करता हु। की क्यू कुछ startup successful होता है और क्यू कुछ startup सुरु में ही फैल हो जाते है। आये देखते है।
 
दो दोस्त थे रमेश और सुरेश दोनो ने ही How to earn money from youtube बाली video देखा और लेकिन उनमें से सुरेश ने उस video के हरेक बात को note down किया और रमेश uper-uper से समझ लिया कि हा youtube एक रास्ता है जहाँ पर zero investment में भी खोला जा सकता है। और वहाँ से लाखों रुपये monthly भी कमाए जा सकते है।
 
तो दोनों ने ही एक एक अपना youtube channel खोलने का decision लिया।

Startup के 3 golden rule में से!
 
1st rule |start with why|
 
अब देखते है रमेश और सुरेश ने इस rule को कैसे follow किया~
 
रमेश ने खुद से एक बार भी ये नही पूछा कि क्यो channel खोलना है?
उसके दिमाग मे सिर्फ एक ही चीज चल रहा था की इससे बहुत पैसे कमाया जा सकता है। मतलब एक तरह से देखा जाए तो उसके लिए why था name, fame money, जिस वजह से उसका action भी कुछ ऐसा ही रह। उसने research किया कि कौन-कौन से topic India में always trending में रहता है। फिर उसे पता चला कि एक है sexual content और दूसरा comedy
 
पहला बाला तो वो कर नही सकता नही तो उसके घर मे उसे जूते पड़ेंगे लेकिन दूसरा बाला वो कर सकता है। फिर उसने देखा कि bb ki vines, carry minati, ये सब इतने कम time में इतने ज्यादा subscriber gain कर लिए है। उसने कहा सही है यही करना है मेरे को और जाकर उसने एक comedy channel खोल लिया एक बार भी उसने नही सोचा कि क्या मेरा genuine interest है मेरा comedy में?, क्या talent है? नहीं उसे तो बस पैसे दिख रहा था interest गया तेल लेने।
 
अब आते है सुरेश की बात पे। 
 
☺रमेश ने कुछ भी decision लेने से पहले उसने How to earn money from youtube बाली note को सही से पढा तो उसमें पहला line था अपने interest को ढूंढना उसने दिमाग लगाया लेकिन कुछ भी ऐसा नही मिला और कहने लगा कि यार मेरे interest का तो कुछ है ही नही और ऐसे में उसका phone side में ही था and suddenly उस पर उसका नज़र गया और मिल गया उसका interest उसको mobile phones में bahut ज्यादा interest था। new-new phones लेकर experiment करना। क्या upcoming updates है market में new phones के बारे में और उसके सारे news वो ऐसे ही different to website se खबर लेता था। मतलब mobile phones के बारे में उसका knowledge बहुत बढ़िया था।
 
Even उसके friends भी जब भी new phones खरीदने जाते थे तो वो उसी से advice मांगने आते थे और उसने सोच लिया कि भाई यही करना है।
 

 

उसने youtube पर जाकर एक mobile phones का channel create कर दिया। 
 
सुरेस का मकसद था कि market में आई new phones का upcoming updates और लोगो को knowledge provide कराके इस मामले में थोड़ी सी help करना।

2nd rule| learn from masters|

रमेश channel create करने के बाद वो अपने भैया से पूछने के लिए गया जो कि वो खुद 9 to 5 बाली bank में नौकरी करते है जिनको youtube के बारे में कुछ जानकारी भी नही है। तो फिर भैया ने अपना ज्ञान बटोरना  start किया। और उन्होंने कहा कि अरे मेरे भी कुछ friends ने इसे सुरु किया था पैसा वैसा कुछ मिलता नही बेकार का time pass है लाखो में एक दो का luck favour ho जाता है। और मिल जाता है ये सब फालतू का चक्कर छोड़ और पढ़ाई कर और  मेरी तरह bank में job कर कहाँ  इन सब के पीछे भाग रहा है। 
 
फिर उसने अपने दोस्तों से भी disscuss किया लेकिन उनमें से भी को तो ये भी नही पता कि youtube क्या होति है  उनलोगों ने भी कहा यार काफी मुश्किल है कौन देखेगा तेरा video वैसे भी तू तो famous भी नही है।
 
अब ये सारी बाते सुनकर उसका motivation और down हो गया।
 
और दूसरी तरफ सुरेस अपने भाई औऱ ना ही अपने  दोस्तो से पूछा क्योकि उन सब की youtube के बारे में कुछ पता ही नही था 
 
सुरेस ने क्या किया कि तुरंत उसने youtube पर कौन-कौन से channel है जो mobile phones ko लेकर famous है तो उसने देखा कि technical guruj, gikirajneet,  ये सब थे। 
 
फिर उसने उनलोगों को approach किया videos पर comment करके personnely mail करके पूछा कि उनको सुरु में video पर कितने views आते थे? कैसे वो सुरु में video बनाते थे? फिर कैसे उन्होंने improve किया। मतलब वो उनलोगों से सीखने लगा जो इन सब मे masters थे। results ये मिला कि उसका motivation level और बढ़ गया। उसने जब उस channel पर जाकर thanks giving पढा तो और अच्छा लगा।
 
उसने सोच लिया कि यार मुझे भी बस यही करना है
 
3rd rule|focus on excelence|
 
रमेश दिनभर में 50 बार अपना revienew check करता था, जहाँ पर सुरेस week में only एक बार। 
 
दोनो के videos में as a expected कम views पड़ने लगे तो ऐसे में रमेश को उसके भैया का बात याद आया की बहुत कम लोगो का luck click होता है। अब वो और ज्यादा demotivate होने लगा लेकिन इन same sitution में सुरेस को उन successful youtuber के बारे में पता चला कि सुरु में उनके video पर कम से कम  10 views आते थे। और सुरेस का तो 50 आ गया था तो वो demotivate होने के बजह और motivate हो गया।
 
अब रमेश की video पर नेगेटिव comments आने लगे as a expected 3 months के बाद उसका total revienew 10$ था तो उसको याद आया कि यार दोस्तो ने सही कहा था। ये सब करना बहुत ही मुश्किल है।
 
और 3 महीने बाद उसने finally अपना हथियार डाल दिया ऒर 3 महीने बाद ही उसने video डालना बंद कर दिया। सुरेस के भी video पर negitive comment आये लेकिन उसने कुछ अलग किया उसने इस बात पर ध्यान दिया कि कहा पर गलती हो रहा है अच्छा audio में noise है वहाँ पर सही किया फिर उसने देखा कि video के lighting थोड़ा better करना होगा video के अंदर ढेर सारे shadow आ रहे है तो उसे भी ठीक किया मतलब की उसने सिर्फ सुरुआत में अपने product पर ध्यान दिया।
 
सुरेस को भी 3 महीने के बाद only 8$ ही revinew generate हुए लेकिन 10 लोगो ने already उसके videos के लिए thanks कह चुका था। उसने $ कि जगहे उस thanks को count किया क्योकि उसका असली मकसद ही था की लोगो को help करू।
 
फिर जैसे-जैसे उसका product बेहतर होने लगा उसका subscriber बढ़ता गया as a results ज्यादा review generate होना suru हो गया लेकिन उसने उस पैसे को different websites में लगा दिया और उसके youtube पर 1M subscriber है औऱ आज 5 साल बाद वो महीने का 2 लाख रूपये monthly कमा रहा है।
 
और रमेश अपने भैया के साथ 9 to 5 bank me job कर रहा है और आज उसकी monthly income है 30K रुपये है।

 

 

 

अब जब भी रमेश सुरेस से मिलता है तो एक ही बात कहता है कि यार तेरा तो luck click कर गया।

 

conclusion

Friends मैं चाहता हु की ये article आप उन सभी के पास आपके सहयोग से पहुचना चहिये जो new youtube channel create करना चाहते है। और उनके लिए ये बहुत ही जानना जरूरी है कि सुरुआत me क्या करे or क्या ना करे।
 
फ्रेंड्स अगर आपको ये स्टोरी पसंद आयी हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों में शेयर करे और अगर आप इस स्टोरी से इंस्पायर्ड हुए हो तो कमेंट जरूर करे 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here