स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध – Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi

स्वच्छ भारत अभियान निबंध हिंदी में

हेल्लो फ्रेंड्स आज के आर्टिकल में हम आपको स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध लेकर आये है, जिसमे आप जानेंगे की स्वच्छ भारत अभियान क्या है, इसके क्या क्या महत्व है, साथ ही हम आपको ये भी बताएँगे की आप आपको किस तरह से निबंध लिखना है, ताकि स्कूल के प्रोजेक्ट्स या फिर एग्जाम में अच्छे से अच्छे नंबर आये, तो चलिए विस्तार से जानते है |

स्वच्छ भारत अभियान का नाम सभी ने सुना होगा। स्वच्छ भारत अभियान भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा क्रांतिकारी अभियान में से एक अभियान माना जाता है। यह अभियान पूरे देश को स्वच्छ करने के लिए काफी महत्वपूर्ण तथा अहम योगदान देने वाला अभियान साबित हुआ है। भारत सरकार की यह पहल काफी ज्यादा प्रशंसनीय है और स्वच्छ भारत अभियान आए दिन चर्चा  में रहता है।

 

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के इस सपने को साकार करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा यह अभियान चलाया गया। इस अभियान को देश के सभी धर्म के लोगों द्वारा बहुत ज्यादा सपोर्ट किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस कदम की सराहना करते हुए, सभी स्कूल और कॉलेजों ने भी इस अभियान का सपोर्ट किया।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध – Swachh Bharat Abhiyan Essay In Hindi

अनुकर्म दिखाए

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

राष्ट्रपिता के सपने को साकार करने के लिए स्कूल और कॉलेजों में भी विभिन्न प्रतियोगिताएं स्वच्छ भारत अभियान पर कराई जाती है। परीक्षाओं में एक अलग से विषय  शुरुआत की गई। स्वच्छ भारत अभियान पर लोगों की जागरूकता बढ़ाने के लिए शैक्षणिक स्तर पर शिक्षा मंत्री द्वारा यह कार्य प्रारंभ करवाया गया।

आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको स्वच्छ भारत अभियान के बारे में पूरी जानकारी देंगे। स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत और स्वच्छ भारत अभियान से क्या फायदे हुए हैं,उनके बारे में भी जिक्र करेंगे।

स्वच्छ भारत अभियान

भारत सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम भारत देश को स्वच्छ करने में काफी ज्यादा महत्वपूर्ण साबित हुआ है। स्वच्छ भारत अभियान भारत सरकार की एक अनूठी पहल है। जिसके माध्यम से लोगों को अपने आसपास के पर्यावरण को साफ रखने की एक नैतिक जिम्मेदारी सौंपी गई।

हालांकि अगर सभी लोग अपने आसपास के पर्यावरण को पहले से ही जिम्मेदारियों के साथ स्वस्थ रखते। तो इस अभियान के चलाने की जरूरत नहीं पड़ती। लेकिन फिर भी यह अभियान चलाने के पश्चात लोगों में भारत को स्वच्छ करने तथा अपने आसपास के पर्यावरण को शुद्ध करने को लेकर काफी ज्यादा जागरूकता फैली है।

सरकार द्वारा यह कदम इसलिए उठाया गया। क्योंकि लोग स्वच्छता को पूरी तरह से नजरअंदाज कर रहे थे। भारत के नागरिकों द्वारा अपने घर का सारा कचरा गंदगी गलियों, सड़कों तथा चौराहे पर फेंक दिया जा रहा था।

भारत के नागरिकों द्वारा सिर्फ अपने घर को ही साफ रखा जा रहा था। भारतीय नागरिकों ने अपने देश को अपना घर नहीं समझा। इसीलिए इस अभियान की आवश्यकता पड़ी और सरकार द्वारा इस अभियान की शुरुआत की गई।

स्वच्छ भारत अभियान क्या है |

स्वच्छ भारत अभियान भारत को स्वच्छ करने के लिए चलाया गया एक महत्वपूर्ण अभियान है। इस अभियान की परिकल्पना महात्मा गांधी जी ने आजादी के पूर्व ही कर दी थी। लेकिन लोगों के द्वारा महात्मा गांधी जी के इस बात को नजरअंदाज किया गया। अधिकारिक तौर पर स्वच्छ भारत अभियान की बात करें, तो सन 1999 में इस अभियान की शुरुआत मानी जाती है।

1 अप्रैल 1999 में माना जा रहा है, कि स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत हो गई थी। हालांकि इसके लिए कई कदम उठाने की आवश्यकता थी। जो 2 अक्टूबर 2014 के पश्चात संभव हुए। भारत सरकार ने ग्रामीण स्वच्छता को पूरी तरह से बढ़ावा देने के लिए स्वच्छता के लिए एक आयोग गठित किया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पहले भी पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह जी ने साल 2012 में स्वच्छ भारत अभियान को मंजूरी दी थी।  उस समय इस योजना का नाम निर्मल भारत अभियान रखा था। लेकिन किसी कारणवश यह अभियान लागू नहीं हो पाया। जिसको बाद में स्वच्छ भारत अभियान के नाम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लागू किया गया।

स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत करीब 10 पॉइंट 19 करोड़ घरों में शौचालय निर्माण किया जा चुका है। इसके अलावा कई घरों में पेयजल की सुविधा उपलब्ध नहीं थी। जिनकी वजह से स्वच्छ भारत अभियान में भी कई प्रकार की बाधाएं उत्पन्न हो रही थी। पेयजल की पूर्ति भी पेयजल व स्वच्छता विभाग द्वारा करवाई गई।

स्वच्छ भारत अभियान का आरंभ

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सपने को साकार करने के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने गांधी जयंती के अवसर पर ही इस स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 में इस अभियान का आगाज पूरे भारत में शुरू किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गांधी जयंती पर इस अभियान की शुरुआत करने के पश्चात विपक्षी पार्टियां भी इस अभियान में भारत का सहयोग देने के लिए एकजुट हो गई।

साल 2014 के पश्चात सभी धर्म व सभी पार्टियों द्वारा इस स्वच्छ भारत अभियान का सम्मान किया गया। भारत को स्वच्छ करने में अपना योगदान सभी वर्ग के लोगों ने दिया है।

गांधी जी के सपनों को पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को साफ सुथरा बनाने की लोगों से अपील की थी। हालांकि शहरी इलाकों में तो कई प्रकार की जागरूकता पहले से ही फैली हुई थी। नगर पालिका टीमों द्वारा शहरों के गलियों की सफाई  की जा रही थी।

लेकिन स्वच्छ भारत अभियान का सबसे बड़ा उद्देश्य गांव के लोगों को जागरूक करना था। क्योंकि गांव में शौचालय का प्रयोग बिल्कुल ना के बराबर हो रहा था। ज्यादातर ग्रामीण लोगों के शौचालय बने हुए नए थे।  खुले में शौच करने की वजह से कई प्रकार की बीमारियां खेल रही थी।

इस मिशन को सफल बनाने के लिए कई बड़े नेताओं ने भी हिस्सा लिया।  इस मिशन का प्रचार प्रसार करना शुरू किया और लोगों में जागरूकता पैदा की। इस मिशन के पश्चात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घर-घर शौचालय बनवा कर इस मिशन को सफल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

इस मिशन में खेल जगत से लेकर बॉलीवुड जगत तक सभी सेलिब्रिटी ने भी अपना योगदान दिया और लोगों को जागरूक करने में मदद की। इतना ही नहीं अक्षय कुमार ने तो स्वच्छ भारत अभियान पर अपनी एक फिल्म भी रिलीज की थी।

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य

भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाया गया स्वच्छ भारत अभियान जिसका प्रमुख उद्देश्य भारत को साफ करना था। लेकिन इसके साथ ही कई प्रकार के अन्य उद्देश्य थे। जो इस स्वच्छ भारत अभियान के पश्चात पूर्ण हुए स्वच्छ भारत अभियान मिशन का उद्देश्य कई सारे लक्ष्यों को प्राप्त करना था। ग्रामीण क्षेत्रों में खुले में शौच करना एक आम बात था।

सरकार द्वारा इस खुले में शौच करने को हमेशा के लिए बंद करना था स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य शौचालय घर घर बनवाना भी था। लोगों में जागरूकता फैलाना भी स्वच्छ भारत अभियान का मुख्य उद्देश्य था। अपने घरों के साथ-साथ अपने आसपास के पर्यावरण की साफ सफाई करना व्यवस्था को बनाए रखना। कचरा पात्र का मूल रूप से उपयोग करना यह सभी इस अभियान का मुख्य उद्देश्य था।

स्वच्छ भारत अभियान क्यों चलाया गया

भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी हमेशा कहते थे, कि स्वतंत्रता से अधिक भारत की स्वच्छता महत्वपूर्ण है। लेकिन महात्मा गांधी के इस कथन को लोग नहीं समझ पाए। महात्मा गांधी के इस बात को नजरअंदाज किया गया। उसके पश्चात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अभियान के तहत देश की स्वच्छता पर जोर दिया गया।

भारत की स्वच्छता को देखते हुए माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा यह कदम उठाया गया। इस कदम का किसी भी पार्टी ने विरोध नहीं किया और सभी विपक्षी पार्टियों के साथ साथ सभी धर्म के लोगों द्वारा स्वच्छ भारत अभियान का सहयोग किया गया।

माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 2 अक्टूबर 2014 को यह अभियान शुरू हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार साल 2014 में ही प्रधानमंत्री बने थे। उसके पश्चात नरेंद्र मोदी का यह पहला अभियान था। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर पूरे भारत को स्वच्छ करना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उद्देश्य था। इसीलिए स्वच्छ भारत  का संकल्प माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा समस्त देशवासियों को संकल्प लेने की अपील की।

ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को जागरूक करने के लिए इस अभियान की सबसे ज्यादा आवश्यकता हुई। क्योंकि घरों में शौचालय नहीं होने की वजह से लोग ज्यादातर खुले में शौच करते थे और ऐसे में कई प्रकार की बीमारियां ग्रामीण इलाकों में फैल रही थी। इस वातावरण को शुद्ध करने के लिए इस अभियान की ग्रामीण इलाकों में सख्त आवश्यकता थी।

साल 2011 की जनगणना में कई चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए। उसी की वजह से इस स्वच्छ भारत अभियान की आवश्यकता देश में पड़ गई। साल 2011 की जनगणना के अनुसार 72% जनसंख्या गांव में निवास करती है। मतलब यह है, कि 16 पॉइंट 71 करोड़ घर जो गांव में बने हुए हैं। उनमें से मात्र 5 करोड़ घरों में ही शौचालय था बाकी के सभी ग्रामीण नागरिक जो खुले में शौच करने के लिए मजबूर थे।

स्वच्छ भारत अभियान कि भारत में जरूरत

भारत में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की कही हुई बातों के अनुसार आजादी के पूर्व भी स्वच्छ भारत अभियान की जरूरत थी। जिसे लोगों द्वारा नजरअंदाज किया गया। यह मिशन भारत को स्वच्छ बनाने में सफल हुआ है और भारत को स्वच्छ करने के लिए ही इस अभियान की शुरुआत करने की जरूरत भारत में पड़ गई।

  1. इस मिशन के अंतर्गत ग्रामीण लोगों को भारत की स्वच्छता के प्रति जागरूक करना मुख्य उद्देश्य था।
  2. प्रत्येक घर में शौचालय निर्माण करवाना और खुले में शौच करने की प्रवृत्ति को खत्म करने की सख्त आवश्यकता थी | इस आवश्यकता की पूर्ति स्वच्छ भारत अभियान द्वारा संभव हो पाई।
  3. नगर निगम द्वारा कचरे के पुनर्चक्रण और दोबारा इस्तेमाल को बढ़ावा दिया गया।
  4. लोगों द्वारा अपने घरों की सफाई तो रखी जा रही थी। लेकिन अपने आसपास के पर्यावरण की सफाई के लिए जागरूक करना ताकि लोग अपने घरों के साथ- साथ देश की सफाई रखें।
  5. ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता लाना तथा ग्रामीण क्षेत्रों में फैल रही बीमारियों को रोकने के लिए इस अभियान की जरूरत पडी।
  6. भारत को स्वच्छ बनाने के लिए इस अभियान की मुख्य तौर पर जरूरत पड़ी। जब भारत स्वच्छ हो पाएगा,तभी बीमारियों से मुक्त भी हो सकेगा।
  7. ग्रामीण क्षेत्रों में जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाकर स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करने की जरूरत थी।
  8. भारत को स्वच्छ करके विश्व में स्वच्छता की मिसाल खड़ी करने की आवश्यकता स्वच्छ भारत अभियान द्वारा पूर्ण हुई।
  9. खुले में शौच करने को रोकने के साथ-साथ नदियों के प्रदूषण को रोकना भी बहुत जरूरी था। जो स्वच्छ भारत अभियान के पश्चात संभव हो पाया।
  10. लोग सड़कों व गलियों को बहुत ज्यादा कूड़ा कचरा डालकर गंदा कर रहे थे। लोगों को कचरा पात्र के इस्तेमाल करवाने की जरूरत थी। जो स्वच्छ भारत अभियान के पश्चात संभव हो पाई है।

स्वच्छ भारत अभियान के लोकप्रिय नारे

स्वच्छ भारत अभियान लागू होने के पश्चात लोगों में जागरूकता पैदा करने तथा स्वच्छ भारत अभियान का भारत में प्रचार प्रसार करने के लिए कई प्रकार के नारे बनाए गए। उन्हीं नारों के आधार पर ग्रामीण लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा हुई। इन सभी नारों को कई प्रकार के सार्वजनिक स्थलों पर भी पेंटिंग के जरिए लिखा गया। ताकि लोगों में इन नारों से जागरूकता पैदा हो सके।

  1. स्वच्छ और स्वस्थ होगा, तभी तो आगे बढ़ेगा इंडिया।
  2. आवाज उठाओ, गंदगी मिटाओ।
  3. स्वच्छता ही सेवा है।
  4. भारत सरकार का इरादा, सम्पूर्ण स्वच्छता का वादा।
  5. स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत।
  6. आओ फिर एक बदलाव करें, देश का कोना-कोना साफ करें।
  7. बच्चा बच्चा करे यही पुकार, स्वच्छ और सुंदर हो देश हमारा।
  8. गांधीजी के सपने को कीजिए साकार, स्वच्छता हो देश मे आपार।
  9. महात्मा गांधी  के सपनों का भारत बनाएंगे, हम सब मिलकर चारो तरफ स्वच्छता फैलाएंगे।
  10. जन-जन तक यह संदेश पहुंचाना है, हमें स्वच्छता को अपनाना।
  11. गांधीजी का था इरादा, देशवासी करें स्वच्छता का वादा।
  12. खुबसूरत होगा देश हर छोर, क्योंकि हम करेंगे सफाई चारो ओर।
  13. हम सब का एक ही सपना, स्वच्छ और सुंदर हो देश हमारा।

स्वच्छ भारत अभियान का लाभ

स्वच्छ भारत अभियान को भारत में लागू करने के कई महत्वपूर्ण उद्देश्य थे। उन उद्देश्यों को पूरा करने के पश्चात भारत में स्वच्छ भारत अभियान का अहम लाभ प्राप्त हुआ है। स्वच्छ भारत अभियान के जरिए देश को साफ-सुथरा रखने और गंदगी को पर्यावरण से हमेशा के लिए दूर करने के उद्देश्य से लागू किया था।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाया गया यह अभियान इन सभी उद्देश्यों को सफलतापूर्वक पूरा कर चुका है।

  1. इस अभियान के पश्चात ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों में स्वच्छता को लेकर एवं जागरूकता फैली है।
  2. स्वच्छता को स्कूल स्तर पर भी बढ़ावा देना संभव हो पाया है। स्वच्छ भारत अभियान से संबंधित कई प्रतियोगी परीक्षाओं में भी सवाल पूछे जाते हैं। इसीलिए लोगों में स्वच्छ भारत अभियान की जागरूकता में बढ़ोतरी हुई है।
  3. ग्रामीण लोगों द्वारा खुले में शौच करना लगभग पूरी तरह से बंद हो गया है। क्योंकि स्वच्छ भारत अभियान के तहत घर घर शौचालय का निर्माण करवाया गया।
  4. खुले में होने वाले शौच से फैलने वाली बीमारियों पर मुख्य रूप से काबू पाया गया।
  5. स्वच्छ भारत अभियान के कारण लोगों में अपने घरों के साथ-साथ अपने इलाके को स्वच्छ रखने की जागरूकता पैदा हुई।

आपने क्या सीखा प्रधानमंत्री स्वच्छ भारत अभियान के बारे में

हम उम्मीद करते है, की स्वच्छ भारत अभियान निबन्ध आपको बेहद पसंद आये होंगे, साथ ही इससे जुडी अहम् जानकारी भी आपको मिल गयी होगी, और अगर इस टॉपिक से रिलेटेड कोई भी सवाल आपके मन में है, तो आप कमेंट के माध्यम से हमसे पूछ सकते है |

और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर कीजिये ताकि उन्हें भी इस तरह की जानकारी से अवगत हो सके |

ज्यादा जानकारी के लिए यह पढ़िए

  1. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध
  2. स्वामी विवेकानंद की जीवनी
  3. शहीद भगत सिंह की जीवनी

स्वच्छ भारत अभियान / People Also Ask

स्वच्छ भारत अभियान निबंध कैसे लिखे ?

स्वच्छ भारत अभियान भारत को स्वच्छ करने के लिए चलाया गया एक महत्वपूर्ण अभियान है। इस अभियान की परिकल्पना महात्मा गांधी जी ने आजादी के पूर्व ही कर दी थी। लेकिन लोगों के द्वारा महात्मा गांधी जी के इस बात को नजरअंदाज किया गया। अधिकारिक तौर पर स्वच्छ भारत अभियान की बात करें, तो सन 1999 में इस अभियान की शुरुआत मानी जाती है।

स्वच्छ भारत अभियान नियम क्या है समझाइए ?

माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 2 अक्टूबर 2014 को यह अभियान शुरू हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार साल 2014 में ही प्रधानमंत्री बने थे। उसके पश्चात नरेंद्र मोदी का यह पहला अभियान था। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर पूरे भारत को स्वच्छ करना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उद्देश्य था। इसीलिए स्वच्छ भारत  का संकल्प माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा समस्त देशवासियों को संकल्प लेने की अपील की।

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य क्या है?

सरकार द्वारा इस खुले में शौच करने को हमेशा के लिए बंद करना था स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य शौचालय घर घर बनवाना भी था। लोगों में जागरूकता फैलाना भी स्वच्छ भारत अभियान का मुख्य उद्देश्य था। अपने घरों के साथ-साथ अपने आसपास के पर्यावरण की साफ सफाई करना व्यवस्था को बनाए रखना। कचरा पात्र का मूल रूप से उपयोग करना यह सभी इस अभियान का मुख्य उद्देश्य था।

स्वच्छ भारत अभियान का लाभ ?

1. इस अभियान के पश्चात ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों में स्वच्छता को लेकर एवं जागरूकता फैली है।
2. स्वच्छता को स्कूल स्तर पर भी बढ़ावा देना संभव हो पाया है। स्वच्छ भारत अभियान से संबंधित कई प्रतियोगी परीक्षाओं में भी सवाल पूछे जाते हैं। इसीलिए लोगों में स्वच्छ भारत अभियान की जागरूकता में बढ़ोतरी हुई है।
3. ग्रामीण लोगों द्वारा खुले में शौच करना लगभग पूरी तरह से बंद हो गया है। क्योंकि स्वच्छ भारत अभियान के तहत घर घर शौचालय का निर्माण करवाया गया।

RishabhHelpMe

https://RishabhHelpMe.Com Welcome to my blog RishabhHelpMe.Com My name is Rishabh Raj, and I write posts on this blog on things related to blogging, Seo, WordPress and Make Money.

1 thought on “स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध – Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi”

Leave a Comment