गाँव में सोशल मीडिया का उपयोग लाभ और हानियां | Advantages and disadvantages of using social media in the village.

हेल्लो फ्रेंड्स, आज की पोस्ट में हम जानेंगे की गाँव में सोशल मीडिया के उपयोगिता क्या है, साथ ही हम इस आर्टिकल के जरिये ये भी मालूम करेंगे की Social Media के यूज़ करने से गाँव में इसके क्या फायदे और नुकसान हो सकते है |

सोशल मीडिया आज के समय में एक ऐसा प्लेटफार्म बन चुका है। जहां इस दुनिया के माध्यम से कुछ समय में  मैसेज पूरे देश भर में वायरल हो जाते हैं। Social Media का प्रचलन गांवों में भी देखने को मिल रहा है। पिछले तीन-चार सालों से गांवों में भी सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं की संख्या बढ़ रही है।

साल 2014 के बाद स्मार्टफोन की बढ़ोतरी के साथ-साथ गांवों में Social Media उपयोगकर्ताओं की संख्या बढ़ रही है। सोशल मीडिया के तौर पर कई प्रकार के सोशल मीडिया एप्लीकेशन एंड्राइड मोबाइल में दिए गए हैं।

  1. Whatsapp Me Dark Mode Enable Kaise Kre
  2. This Site Can’t Be Reached In Hindi Error Fix Kaise Kre

जिनके आधार पर लोग हर कोई मैसेज वीडियो वगैरह कुछ ही मिनटों में वायरल कर देते हैं। फेसबुक, WhatsApp, Twitter, Instagram, Telegram, We-chat, Messenger इत्यादि! सोशल मीडिया एप्लीकेशन मुख्य तौर पर गांव में इस्तेमाल किए जाते हैं। 

आज के दौर में Social Media लोगों की जिंदगी में गुल मिल चुका है। गांव की लोग भी अपना अधिकतम खाली समय सोशल मीडिया पर ही बिताते हैं।

सोशल मीडिया बहुत ज्यादा यूज़ किया जा रहा है। गांव में भी लोग Social Media का इस्तेमाल करके दूर बैठे लोगों से बात कर रहे हैं। सोशल मीडिया का कई प्रकार से लाभ भी है। जैसे सूचनाओं का आदान – प्रदान, मनोरंजन करना,  कई अहम जानकारी को फैलाना इत्यादि 

What Is Social Media In Hindi | सोशल मीडिया क्या है? 

गाँव में सोशल मीडिया का उपयोग के लाभ और हानियां

Social Media एक अपरंपरागत मीडिया है। इन एप्लीकेशन को एक नेट की दुनिया भी कहा जा सकता है। इन एप्लीकेशन के जरिए इंटरनेट के माध्यम से विश्व के हर एक कोने की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

सोशल मीडिया के जरिए पूरा संसार एक दूसरे से कनेक्ट हो चुका है। गांव के लोग भी इस Social Media से कनेक्ट हो गए हैं। सोशल मीडिया को संचार का एक बेहतरीन माध्यम माना गया है।  क्योंकि सोशल मीडिया द्वारा बहुत ही कम समय में सूचनाओं का आदान-प्रदान बहुत तेजी से हो रहा है। सोशल मीडिया द्वारा हर क्षेत्र में खबरों का आदान-प्रदान हो जाता है।

Use of social media in villages | गांवों में सोशल मीडिया की उपयोगिता

गांवों में Social Media बहुत ज्यादा उपयोग किया जा रहा है। सोशल मीडिया के तौर पर हर कोई खबर गांव तक पहुंच रही है। गांव में सोशल मीडिया की मुख्य रूप से उपयोगिता हर खबर के बारे में गांव वालों को जानकारी प्राप्त हो।

सोशल मीडिया गांव में एक सकारात्मक भूमिका प्रदान करता है। Social Media के द्वारा गांव के लोग हर प्रकार की गतिविधि से जुड़े हुए रहते हैं। इसके अलावा सोशल मीडिया द्वारा गांव के लोग विश्व की सभी खबरों के बारे में जानकारी प्राप्त कर रहे हैं।

  1. 20+ Best Way Paytm से पैसे कैसे कमाए
  2. 100% Solved Temporary Adsense Ads Serving Limit Problem In Hindi

गांवो तक हर प्रकार की राजनीतिक हलचल और देश से जुड़ी सभी खबरें एकमात्र सोशल मीडिया द्वारा ही पहुंच पाती है। क्योंकि अधिकतर गांव ऐसे हैं जहां पर अखबार का अभाव है और कई घर भी ऐसे हैं। जहां पर टेलीविजन का भी अभाव है।

ऐसे में उन लोगों के लिए हर कोई जानकारी Social Media के द्वारा ही प्राप्त हो पाती है। आज के समय 80 % लोग एंड्राइड मोबाइल इस्तेमाल करते हैं और सोशल मीडिया का उपयोग करते हैं।

Social Media को बढ़ावा देने के लिए अन्ना हजारे का आंदोलन का भी ज्यादा प्रभावशाली साबित हुआ। अन्य हजारे द्वारा किए गए आंदोलन के पश्चात गांवों में भी सोशल मीडिया फैलने लगा।

Social Media के आधार पर आज के समय में कई प्रकार के एग्जिटीग पोल भी करवाए जाते हैं।  जिनमें गांव के लोगों का भी अहम योगदान होता है।

साल 2014 में केंद्र में होने वाले लोकसभा चुनाव के दौरान सभी राजनीतिक पार्टियों द्वारा Social Media का उपयोग जमकर किया गया।

सोशल मीडिया पर चुनावी प्रचार की कई वीडियोस वायरल की हुई। 2014 के लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। Social Media का उपयोग करके साल 2014 में पहली बार एक सफल एग्जिट पोल का निर्माण हुआ था। जिसके बाद लोगों को चुनाव के प्रति जागरुकता बढ़ी।

सोशल मीडिया के माध्यम से ही निर्भया को न्याय दिलाने के लिए विशाल संख्या में युवा सड़कों पर आए थे। जिससे सरकार दबाव में आई और प्रभावशाली कानून बनाने के लिए मजबूर हो गई। Social Media आज के समय में हर जानकारी देश के सभी लोगों तक पहुंच रही है।

Benefits of social media in villages | गांवों  में सोशल मीडिया का लाभ  

गाँव में सोशल मीडिया का उपयोग के लाभ और हानियां

लोगों के लिए सोशल मीडिया एक दिन शिक्षा का हिस्सा बन चुका है। सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना हर कोई लोग पसंद करता है। Social Media के आधार पर लोग सभी जानकारी प्राप्त करते हैं। गांवों के लोग भी Social Media का इस्तेमाल कर रहे हैं। गांवों में भी कई प्रकार से सोशल मीडिया के फायदे हैं। जो निम्न है।

  1. गांव में सोशल मीडिया की इस्तेमाल करने से लोगों तक बहुत तेजी से हर प्रकार की खबरें पहुंच जाती है। गांव के लिए सोशल मीडिया ही एकमात्र संचार का सबसे बेहतर माध्यम माना जाता है।
  2. देश की हर कोने की जानकारी गांव के लोगों तक आसानी से पहुंच पाती है। इसके अलावा कई प्रकार की राजनीतिक पार्टियों की हलचल के बारे में भी गांव के लोगों को आसानी से जानकारी प्राप्त होती है।
  3. Social Media सभी वर्गों के लिए उपयोग किया जाने वाला एक आम प्लेटफार्म बन चुका है। गांव के लोग चाहे शिक्षित हो या अशिक्षित सभी लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं और Social Media से हर कोई जानकारी प्राप्त करता है। सोशल मीडिया का उपयोग अमीर और गरीब दोनों वर्ग के व्यक्ति कर रहे हैं।
  4. सोशल मीडिया का उपयोग करके गांव के लोग भी वीडियो कई मैसेज एक दूसरे लोगों तक शेयर कर पाते हैं।  रिश्ता मजबूत करने में भी Social Media में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लोगों के ज्यादा संपर्क में आने का बेहतर तरीका सोशल मीडिया माना जाता है। 
  5. गांव में भी कई लोग Social Media के जरिए अच्छे खासे पैसे भी कमा रहे हैं। गांवों के कई ऐसे लोग हैं। जो सोशल मीडिया पर अपनी वस्तु को प्रमोट करके या ऑनलाइन तरीके से एफिलिएट मार्केटिंग की लिंक सोशल मीडिया ग्रुपों में शेयर करके  बहुत पैसे कमा रहे हैं।

Loss of social media in villages | गांवों में सोशल मीडिया का नुकसान 

गाँव में सोशल मीडिया का उपयोग के लाभ और हानियां 

  1. गांव में Social Media का कई प्रकार से नुकसान भी है।  क्योंकि कई बार बहुत सारी गलत जानकारी भी सोशल मीडिया पर वायरल हो जाती है और लोग उस जानकारी के भ्रम में आ जाते हैं।
  2. Social Media की खबरें गलत होने की वजह से गांव के लोग उन पर यकीन कर लेते हैं और ऐसी कई जानकारी जो लोगों के लिए दिक्कत भी खड़ी कर देती हैं। 
  3. गांव में कई बार किसी भी व्यक्ति की प्राइवेट वीडियो इत्यादि को भी वायरल कर दिया जाता है। जिसकी वजह से लोगों के खिलाफ पुलिस केस भी हो जाते हैं। 
  4. कई बार सोशल मीडिया पर आई हुई वीडियो इत्यादि को आगे शेयर करने से भी साइबर क्राइम के जरिए आप पर केस हो जाता है।
  5. Social Media पर कई बार लोग किसी गलत व्यक्ति के जाते में भी आ जाते हैं।  ऐसे में खुद को आर्थिक नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। जैसे – ऑनलाइन लूटपाट इत्यादि

अपने क्या सीखा गाँव में सोशल मीडिया के उपयोगिता के बारे में

हम उम्मीद करते है, की गाँव में सोशल मीडिया के उपयोगिता क्या है, और इसके लाभ और हानि क्या क्या है, इसकी सभी जानकारी आपको मिल गयी होगी, और अगर इस टॉपिक से रिलेटेड कोई भी सवाल आपके मन में है, तो आप कमेंट के माध्यम से हमसे पूछ सकते है |

और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर कीजिये ताकि उन्हें भी इस तरह की जानकारी से अवगत हो सके |

ये भी अवश्य पढ़े

  1. कोरोनावायरस मोबाइल हेलो ट्यून कैसे बंद करे
  2. 100+ Google Facts In Hindi | गूगल के रोचक तथ्य
  3. Google Map Me Apna Address Kaise Dale
  4. होली पर निबंध – Holi Essay in Hindi
  5. Fastag Kya Hai Or Fastag Kaise Kharide
RishabhHelpMe

https://RishabhHelpMe.Com Welcome to my blog RishabhHelpMe.Com My name is Rishabh Raj, and I write posts on this blog on things related to blogging, Seo, WordPress and Make Money.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.